Health

INDvsAUS: सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में भारतीय खिलाड़ियों को गालियाँ कई बार दी गयी है

2012 में जब फैन्स ने कोहली को गाली दी थी तो कोहली ने मिडिल फिंगर दिखाई थी, ऑस्ट्रेलियाई मीडिया उस समय ,मिडिल फिंगर को लेकर खूब तिलमिलाया था

भारतीय क्रिकेट टीम इस समय ऑस्ट्रेलिया के साथ टेस्ट सीरीज खेल रही है। सिडनी में सीरीज का चौथा मैच खेला जा रहा है। लेकिन यह मैच क्रिकेट की वजह से नहीं बल्कि कुछ फैन्स की गलत हरकतों की वजह से मशहूर हो रहा है। इस मैच में कुछ ऑस्ट्रेलियाई फैन्स ने जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज पर नस्लीय टिप्पणी की। 

मैच के तीसरे दिन जब भारतीय टीम फील्डिंग कर रही थी तब बुमराह और मोहम्मद सिराज बाउंड्री लाइन के पास फील्डिंग कर रहे थे तभी स्टेडियम में बैठे कुछ फैन्स उनको गालियाँ देने लगे। इसकी शिकायत भारतीय टीम ने अंपायर से की। बीसीसीआई ने इसकी शिकायत मैच रेफरी और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से की। 

Mohammad Siraj and Jasprit Bumrah

यह काफी नहीं था कि अगले दिन फिर जब मोहम्मद सिराज बाउंड्री पर फील्डिंग कर रहे थे तब फिर कुछ ऑस्ट्रेलियाई फैन्स उन्हें गाली देने लगे। इस दौरान मैच रुक गया। स्टेडियम में पुलिस आयी और गाली देने वाले कुछ लोगों को मैदान से बाहर कर दिया। 

आपको जानकार यह हैरानी होगी कि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर इस तरह की चीजें पहली बार नहीं हो रही है। अश्विन ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि उनके साथ इस मैदान में यह चीजें कई बार हो चुकी है। अश्विन ने हैरानी जताई कि मैदान में मौजूद अन्य दर्शक भी गाली देने वाले की पहचान नहीं कर रहे थे। यह बहुत दुःख की बात है। 

हालांकि इस मामलें पर ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट टीम से माफ़ी मांगी है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भरोसा दिलाया है कि इस मामले की जांच चल रही है और दोषियों पर उचित कारवाई की जायेगी।

वहीं इस घटना पर कई भारतीय खिलाड़ियों ने टिप्पणी की है। भारतीय कप्तान विराट कोहली, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, वी वी एस लक्ष्मण, मोहम्मद कैफ आदि ने इस घटना की निंदा की है। 

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलियाई फैन्स द्वारा विरोधी टीम को गालियाँ देना कोई नई बात नहीं है। विराट कोहली के साथ भी एक ऐसी ही घटना इस मैदान पर घटी थी जिसने उस समय खूब तूल पकड़ा था। 

विराट कोहली, सिडनी, 2011-12 टेस्ट सीरीज 

2011-12 बॉर्डर गावस्कर टेस्ट सीरीज का मैच सिडनी में हो रहा था। भारतीय टीम फील्डिंग कर रही थी। विराट कोहली बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग कर रहे थे। तभी फैन्स उन्हें माँ-बहन की गालियाँ देने लगे। विराट कोहली भी उस समय नए-नए थे। उन्होंने ने भी पलटवार में उन्हें माँ-बहन की गालियाँ देनी शुरू कर दी। इसी दौरान कोहली ने मिडिल फिंगर दिखा दी। 

फिर क्या था कोहली द्वारा मिडिल फिंगर दिखाए जाने की तस्वीर अगले दिन ऑस्ट्रेलियाई अखबारों में मुख्य पेज पर छपी। उन पर कोहली की बुराई की गयी थी कि कोहली ने मिडिल फिंगर दिखाकर असभ्यता दिखाई। हालांकि कोहली ने बाद में सफाई दी थी कि फैन्स ने उन्हें माँ-बहन की गालियाँ दे रहे थे। इसलिए उन्होंने भी तुरंत पलटवार में मिडिल फिंगर दिखा दी। 

Virat Kohli

फैन्स द्वारा कोहली पर की गयी टिप्पणी उतनी चर्चा नहीं बनी थी जितनी कि कोहली का मिडिल फिंगर दिखाना उस समय ऑस्ट्रेलिया में चर्चा का विषय बना था। जब-जब भारतीय क्रिकेट टीम सिडनी में खेलती है तब-तब खिलाड़ियों को फैन्स से नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ता है। हरभजन सिंह और रविचंद्रन अश्विन ने इस बात का जिक्र भी किया है। 

यह भी पढ़ें: क्रिकेटर जिसने सोते रहने की वजह से गंवाया देश के लिए टेस्ट मैच में डेब्यू करने का मौका

अश्विन ने कहा कि मेलबर्न और एडिलेड में फैन्स काफी हद तक ठीक ठाक थे। वे गालियाँ नहीं दे रहे थे लेकिन सिडनी के मैदान में फैन्स खिलाड़ियों पर भद्दी-भद्दी टिप्पणी कर रहे थे। बीसीसीआई द्वारा एक्शन लिए जाने पर यह मामला और भी तूल पकड़ने वाला है। क्रिकेट के इतिहास में यह एक शर्मनाक घटना है वो भी ऑस्ट्रेलिया में जहाँ पर क्रिकेट को एक धर्म समझा जाता है।